Metaverse kya hai Cover

जबसे मार्क ज़ुकरबर्ग ने फेसबुक का नाम बदलकर मेटा किया हे । लोगो के मने में सवाल उठ रहे हे की Metaverse kya hai ? और लोगो की दिलचस्पी दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही हे ।

लेखक नील स्टीफेंसन को उनके 1992 के विज्ञान कथा उपन्यास “स्नो क्रैश” में “मेटावर्स” शब्द को गढ़ने का श्रेय दिया जाता है, जिसमें उन्होंने 3 डी बिल्डिंग्स और अन्य आभासी वास्तविकता वातावरण में मिले आजीवन अवतारों की कल्पना की थी।

ना सिर्फ फेसबुक बल्कि गूगल और माइक्रोसॉफ्ट जैसी कम्पनिआ भी इसमें अपना सहयोग देना चाहती हे । और ये कोई छोटी बात नहीं हे । हमारे हर एक काम चाहे वो बिज़नेस से जुड़ा हुआ हो , जॉब से जुड़ा हुआ , गेमिंग , म्यूजिक कॉन्सर्ट , दोस्तों के साथ बाते करना, घूमना जैसी कई सारी चीज़े आप एक वर्चुअल दुनिया में कर सकेंगे जो कितना रोमांचकारी हे आप समझ सकते हे ।

लेकिन सबसे पहले जानते हे की सही में ये Metaverse kya hai ? और इसका मुख्य उद्देश्य क्या हे ? ये कब आएगा कितना समय लगेगा , दिखने में कैसा रहेगा, क्या ये भविष्य को सचमच बदलने वाला हे ? और क्या आपके लिए सही हे ?

सभी चीजों के बारे में विस्तृत में जानेंगे इस टेक्नोलॉजी के आर्टिकल में ।

Metaverse क्या हे? (Metaverse In Hindi)

Metaverse kya hai ? Metaverse एक ऐसी आभासी दुनिया हे जो असल दुनिया की जैसी हे । इस दुनिया में आप VR हेडसेट, AR glasses जैसी टेक्नोलॉजी की मदद से जा सकते हे और जिसमे असली जिंदगी के कई काम जैसे दोस्तों से मिलना , शॉपिंग , गेमिंग , बिज़नेस , मीटिंग्स , ट्रावेल वगैरह बिना घर से निकले वर्चुअल दुनिया में कर सकते हे।

Metaverse kya hai
Metaverse kya hai

आगे विस्तृत में समझने के लिए कुछ मूवीज जैसे Ready player one और Free guy का उदहारण देना चाहूंगा ।

ये दोनों मूवीज वीडियो गेम के ऊपर बनाई हुई हे । जिसमे यूजर वर्चुअल दुनिया में एंटर करके अपने दोस्तों , या ऑनलाइन यूजर के साथ सबकुछ कर सकते हे । जैसे सिटी में कही भी घूम सकते हे , बैंक में डिजिटल currency भी जमा कर सकते हे, और currency से शॉपिंग कर सकते हे ।

जैसे pubg या fornite में आपका अवतार होता हे उसी तरह इस वर्चुअल दुनिया में भी आपका अवतार होगा जिसके लिए आप स्किन , लुक , कपडे वगैरह बदल सकते हे ।

बिलकुल ऐसा metaverse में भी हे । लेकिन metaverse कई बड़े पैमाने पे बनने जा रहा हे । जिसमे आप दुनिया के किसी भी कोने में वर्चुअली जा सकते हे और बातचीत कर सकते हे जिसके लिए स्ट्रांग इंटरनेट कनेक्शन और एडवांस हार्डवेयर की जरुरत पड़ेगी । आशा करता हूँ आप समझ गए होंगे की Metaverse kya hai ?

मेटावर्स दिखने में कैसा रहेगा (Metaverse kya hai)

Metaverse kya hai ये समझने के बाद अब ये समझते हे की दिखने में ये केसा होगा ।

मेटावर्स के अंदर अलग 3D स्पेस यानि की अलग-अलग जगह बनाई जाएगी । जिससे जब भी अपने दोस्तों के साथ गेम खेलेंगे तो आप और आपके दोस्त भले ही कितना दूर रहते हो लेकिन खेलते समय आप अपने दोस्तों के अवतार को देख पाएंगे और सुन पाएंगे जिससे आपको लगेगा की आप उनके साथ ही हे ।

Metaverse kya hai

ऑफिस की मीटिंग करते वक्त भले आप घर पर हो लेकिन आप महसूस करेंगे के वर्चुअल दुनिया में आप अपने कलीग के साथ ऑफिस में ही बैठे हुए हे ।

जैसे आपने ऊपर के वीडियो में देखा अलग अलग तरह की वर्चुअल जगहों का निर्माण किया जायेगा । मार्क ज़ुकरबर्ग के द्वारा फेसबुक होराइजन home में ऐसी जगहों का निर्माण हो चूका हे ।

होराइजन होम एक प्लेटफार्म हे जहा आप भविश्य में नए घर बना पाएंगे । और वहापर अपने दोस्तों को बुला पाएंगे ।

इसके आलावा होराइजन वर्ल्ड का निर्माण हुआ हे जिस्मे आप नयी दुनिया को डिज़ाइन कर सकते हो, गेम खेल सकते हो ।

 metaverse
metaverse

इसके आलावा ऑफिस के काम करने के लिए होराइजन workroom को भी बनाया गया हे । ऑगमेंटेड रियालिटी का भी इसमें बड़ा रोल होगा । जिसमे सिर्फ ऑगमेंटेड चश्मा पहनकर आप कई ऐसी गेम खेल सकते हे जो आज के समय में मुमकिन नहीं हे ।

जैसे की चैस या टेबल टेनिस । तो अपने जाना की Metaverse kya hai ? और ये केसा दिखने वाला हे । अब जानते हे कैसे ये हमारे लिए फायदेमंद रहेगा और कैसे यह हमारी जीवन को बदल सकता हे ।

मेटावर्स से हमारे जीवन में क्या बदलाव आएगा

आज के समय में इंटरनेट कितना उपयोगी हे आप जानते ही हे । फेसबुक के सीईओ मार्क ज़ुकरबर्ग का मानना हे की ये अगली जनरेशन के इंटरनेट के सामान हे । आज के समय में जो भी चीजे हम करते आये हे वो सब अब वर्चुअल वर्ल्ड(Metaverse kya hai) में कर पाएंगे । आइए जानते हे ऐसी कुछ चीजों के बारे में ।

  • आज के समय में हम जो भी घर पे गेमिंग करते हे वो पूरी तरह से वर्चुअल रिआलिटी और ऑगमेंटेड रियलिटी में बदल जायेगा ।
  • एजुकेशन यानि की पढाई के तरीके काफी बदल जायेंगे । जैसे अगर आप सोलर सिस्टम के बारे में पढ़ना चाहेंगे तो ऑगमेंटेड रियलिटी की मदद से आप अपने रूम में ही ग्रहो के होलोग्राम की मदद से आसानी से समझ पाएंगे ।
augmented reality
augmented reality

अगर आप सोलर सिस्टम के बारे में जानना चाहते हे तो मेरा solar system के बारे में आर्टिकल जरूर पढ़े । जिसके अंदर मेने विस्तृत जानकारी दी हे।

  • अगर आपको इतिहास में दिलचस्पी हे और प्राचीन इमारतों और सम्भ्यताओ को जाना चाहते हो तो बिना ट्रावेल किये आप वर्चुअल वर्ल्ड में उन स्थलों पर घूम कर सकते हो ।
metaverse-teleport.
metaverse-teleport.
  • विज्ञानं के अनेक क्षेत्रों में ये बहुत काम आएगा । डॉकटर, सर्जन , इंजीनियर अपने काम को सिखने के लिए वर्चुअल रियलिटी और ऑग्मेंटेड रियलिटी का उपयोग करेंगे । जैसे IRONMAN मूवी में आपने देखा ही होगा ।
  • ऐसा भी समय आ सकता हे जिसमे आपको असली दुनिया की नहीं पर वर्चुअल दुनिया की सेर करने के लिए पैसे देने पड़े । जी हा ये एक सपने की तरह लगता हे लेकिन ये पूरी तरह से भविष्य में मुमकिन हो सकता हे ।
  • आज हम रिस्तेदारो के साथ वीडियो कॉल पे बात करते हे भविष्य में हम उनके 3d होलोग्राम से बात कर पाएंगे । जैसे की कई मूवीज में आप देखते आये हे।
  • ऑफिस के काम करने के तरीको में भी बदलाव आ जायेंगे । ऑफिस की मीटिंग्स या प्रेसेंटेशन्स आप घर से ही कर पाएंगे ।
  • लोग असली दुनिया की जगह पे वर्चुअल दुनिया में घूमना पसंद करेंगे जिससे ट्रावेल खर्चा भी नहीं होगा और काफी समय बचेगा ।
  • क्यूंकि वर्चुअल दुनिया में चीजे खरीदने के लिए currency चाहिए रहेगी , आज के समय में crypto currency का मूल्य हे वो भी कई गुना बढ़ सकता हे ।

इसके आलावा कई सारी चीजों में बदलाव आ सकता हे जिनकी आप और में कल्पना भी नहीं कर पाएंगे । खेर वो तो वक्त ही बताएगा । (Metaverse kya hai)

मेटावर्स से क्या कोई नुकसान ?

Metaverse kya hai कोई खतरा हे या वरदान । Metaverse kya hai ये जानने के बाद मुझे तो काफी रोमांचक एहसास लगा । लेकिन आप जानते ही होंगे हर एक चीज के दो पहलु जरूर होते हे । 

अच्छा और बुरा । लेकिन अच्छी बातो के बारे में हमने बहुत चर्चा की हे । अब जानते हे ऐसी कुछ बाते जिसके बारे में आपने शायद ही सोचा होगा ।

  • सामान्य रूप से देखा जाये तो अमेरिका में एक इंसान हर दिन एवरेज 5 से 6 घंटे फ़ोन में और 4 घंटे कंप्यूटर में गुजारता हे । इंडिया में भी एक इंसान हर दिन एवरेज 4 से 5 घंटे फ़ोन में गुजरता हे । जो की हर साल बढ़ता ही जा रहा हे । और आप जानते ही हे की ज्यादातर टाइम इसमें सोशल मिडिया में गुजर जाता हे । अब आप अंदाजा लगा सकते हे की कितना समय व्यर्थ हो सकता हे आने वाले समय में मेटावर्स के अंदर । 
  • आप ही सोचिये दिन में आप क्या करते हे । ऑफिस का काम करते हे , दोस्तों और परिवार जे साथ समय बिताते हे, सोते हे खाते हे वगैरह । लेकिन आनेवाले समय में मेटावर्स ही आपका समय खरीद लेगा । जिनसे फायदा सिर्फ उन लोगो को होगा जो इससे पैसे कमाने वाले हे ।
  • अगर अपने थोड़ी भी जाँच पड़ताल की होगी तो आपको पता होगा की फेसबुक पर कई बार privacy violation, सिक्योरिटी , और illegal monopoly के जैसे आरोप लगाए गए हे । सोशल मिडिया से लोगो के पर्सनल डेटा का रिकॉर्ड रखा जाता हे और उससे एडवरटाइजर के लिए उपयोग किया जाता हे ।
  • मेटावर्स(Metaverse kya hai) की बात करे तो ये तो कई बड़े पैमाने पे होने वाला हे । अगर फेसबुक आपकी ब्राउज़िंग हिस्ट्री की जानकारी से आपको विज्ञापन दिखा सकता हे तो मेटावर्स में क्या क्या हो सकता हे जिसकी आप कल्पना भी अभी नहीं कर पाएंगे ।
  • और ये भी खतरा हे की आज के समय में जिस तरह इंस्टाग्राम , फेसबुक और Pubg जैसी app की लत लोगो को लग चुकी हे उसी तरह मेटावर्स के बारे में तो सोच के ही डर लगता हे । 
  • आज के समय में भी आपने देखा होगा की सोशल मिडिया की वजह से लोग ज्यादा अकेले होते जा रहे हे । एक दूसरे के साथ होने के बावजूत ये मोबाइल फ़ोन में व्यस्त रहते हे । ऐसे ही कई नुकशान सोशल मिडिया के हे जो मेटावर्स में और बढ़ सकते हे । Also Read : सोशल मीडिया की लत

और जानने के लिए में एक Netflix डॉक्यूमेंट्री देखने की सराहना करता हूँ जिसका नाम हे : The Social Dilemma जो की youtube पर आप फ्री में देख सकेंगे ।

 मेटावर्स कब तक संभव होगा?

मेटावर्स को पूरी तरह से लांच करने में काफी समय लग सकता हे । क्यों की मेटावर्स के लिए जरुरी हार्डवेयर , सॉफ्टवेयर और फ़ास्ट इंटरनेट स्पीड की जरुरत रहेगी । अगर इतने सारे यूजर एक साथ इतने बड़े प्लेटफॉर्म पर काम कर रहे होंगे तो इसके लिए एडवांस VR हैडसैट , ऑगमेंटेड रिआलिटी के लिए चश्मा और 5g या 6g इंटरनेट को तैयार होने में समय तो लगेगा ही लगेगा । मार्क ज़ुकरबर्ग के मुताबिक मेटावर्स के सभी फीचर्स को लांच करने में 5 से 10 साल जितना समय लग सकता हे । ( Metaverse kya hai )

Conclusion

आज के आर्टिकल में ( Metaverse kya hai ) आपने जाना की Metaverse kya hai ? , दिखने में केसा होगा? क्या फायदे हे क्या नुकशान हे और कितना समय इस टेक्नोलॉजी को आने में लगेगा । आशा करता हूँ आपको कई सारी जानकारी मिली होगी । और आर्टिकल(Metaverse kya hai) में आपने जरूर कुछ नया सीखा होगा ।

अगर जानकारी अच्छी लगी हो तो लाइक करे और दोस्तों के साथ शेयर करे । और कोई सुझाव हो या समस्या हो तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताए । धन्यवाद

 also read : Inspiring Elon musk biography in Hindi , 8 ग्रहों के रोचक तथ्य और सोर मंडल की उत्पति

मेटावर्स क्या हे? क्यों हे ये चर्चा का विषय

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.