global warming cover
global warming definition in Hindi
global warming definition in Hindi

हेलो दोस्तों , आज का टॉपिक हे global warming definition in Hindi . ग्लोबल वार्मिंग की समस्या हमारी पृत्वी पर पूर्व-औद्योगिक समय से बढती जा रही हे । लेकिन औद्योगिक क्रांति के बाद होने वाली पृथ्वी के तापमान की बढ़ोतरी को भयंकर माना गया हे ।

क्युकी मनुस्य के जीवन को बेहतर बनाने और औद्योगीकरण की प्रकिर्या में वैश्विक तापमान में बढ़ोतरी लाने वाले ग्रीनहाउस गैस का उत्सर्जन बढ़ गया हे । और लोगो ने अपने फायदे के लिए ऐसी समस्याओ को नज़र अंदाज करने लगे हे जो ठीक नहीं हे ।

इसलिए में आपको ऐसी जानकारी दूंगा जो आपको समझदार बनाए और आपको सही-गलत की पहचान कराए । global warming definition in Hindi आर्टिकल में हम जानेंगे की ग्लोबल वॉर्मिंग क्या हे ? कैसे ये असर करता हे और वैश्विक तापमान के निवारण के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करेंगे तो कही जाइएगा नहीं ।

क्या है ग्लोबल वार्मिंग? (global warming definition in Hindi)

ग्लोबल वार्मिंग क्या है उत्तर दीजिए? ग्लोबल वार्मिंग का सरल अर्थ होता हे वैश्विक तापमान में वृद्धि ।

global warming definition in Hindi

ग्लोबल वार्मिंग के ऐसा सब्द हे जो मुख्य रूप से मानव गतिविधियों का विश्व के जलवायु (climate ) पर हो रहे प्रभाव को दर्शाता हे । जब भी बड़े पैमाने पे पेड़ कट ते हे और जीवाश्म ईंधन जलता हे जैसे कोयला , तेल या फिर कोई गैस । तब वातावरण में ग्रीन हॉउस गैस का प्रमाण बढ़ जाता हे ।

ग्रीन हॉउस गैस ऐसे गैस हे जो गर्मी को अपने अंदर सोख लेते हे । जिससे वैश्विक तापमान बढ़ता हे और ग्लोबल वार्मिंग की समस्या पैदा होती हे । जिसे आप ग्लोबल वार्मिंग का चित्र देखकर समझ सकते हे ।

global warming definition in Hindi

(ग्रीनहाउस गैस कौन सी है?) ग्रीनहाउस गैस मे कार्बनडाइऑक्साइड (CO2), मीथेन , नाइट्रॉस ऑक्साइड जैसे वायु शामिल हे । (वैश्विक ऊष्मीकरण के लिए जिम्मेदार मुख्य प्रदूषक गैस कौन सी है?) ग्लोबल वार्मिंग के लिए सबसे महत्वपूर्ण कार्बनडाइऑक्साइड को माना जाता हे ।

ऐसे वायु पृथ्वी की सतह से निकलने वाले विकिरणों को सोख कर वातावरण में गर्मी बनाए रखती हे । जिससे तापमान बढ़ता हे और जलवायु में परिवर्तन देखे जाते हे जैसे अधिक लगातार गर्मी की लहरें, वर्षा में वृद्धि, कई चरम जलवायु घटनाओं की तीव्रता और आवृत्ति में वृद्धि वगैरह ।

global warming definition in Hindi में आपने समझा के ग्लोबल वार्मिंग की मुख्य वजह ग्रीनहाउस इफेक्ट्स हे । आइये उसके बारे में थोड़ा जानते हे ।

ग्रीन हाउस प्रभाव क्या है? और कैसे काम करता हे ?

ग्रीनहाउस इफेक्ट्स या ग्रीनहाउस प्रभाव एक ऐसी प्रक्रिया है जो तब होती है जब पृथ्वी के वायुमंडल में गैसें सूर्य की गर्मी को सोख लेती हैं । इन ग्रीन हाउस प्रक्रिया से पृथ्वी गर्म बनती हे ।

ग्रीनहाउस इफेक्ट्स बिलकुल ग्रीनहाउस की तरह ही काम करती हे । आपने बचपन में ग्रीनहाउस के बारे में तो पढ़ा ही होगा । ये एक कांच का घर होता हे । जिसकी दीवारे और छत कांच से बनी होती हे । जिसको वनस्पति , पोधो का विकास करने के लिए उपयोग किया जाता हे । जैसे टमाटर या उष्णकटिबंधीय फूल ।

ग्रीन हाउस प्रभाव
ग्रीन हाउस प्रभाव

शर्दियो में भी ये ग्रीनहाउस अंदर से गर्म रहते हे । दिन के समय में सूर्य की गर्मी ग्रीनहाउस के अंदर जाकर पौधे को गर्मी देती हे । रात के समय बाहर का वातावरण ठंडा होता हे लेकिन ग्रीनहाउस के अंदर गर्मी होती हे । क्यूंकि ग्रीनहाउस की कांच की दीवारों और छतने सूर्य की गर्मी को अंदर खींच के रॉक लिया होता हे । वैसे ही जैसे ग्रीनहाउस वायु पृथ्वी की गर्मी को अपने अंदर खींच लेते हे ।

ग्लोबल वार्मिंग और ग्रीनहाउस प्रभाव के बारे में जानने के बाद हम जननेगे की हालही में ग्लोबल वार्मिंग का दर क्या हे और कैसे ये मौसम को कैसे प्रभावित करता हे । जिसके लिए में आपके सामने अंतर सरकारी संगठन के रिपोर्ट रखूँगा ।

ग्लोबल वार्मिंग की वर्तमान दर और इसके प्रभाव

ग्लोबल वार्मिंग (global warming definition in Hindi) की समस्या पूर्व-औद्योगिक समय से बढती रही हे लेकिन किसी को इस के बारे में पता नहीं था । 1938 में अंग्रेजी आविष्कारक गाय कॉलेंडर ने वायुमंडलीय कार्बन डाइऑक्साइड एकाग्रता में वृद्धि की भविष्यवाणी की थी । उन्होंने पता लगाया की वातावरण में CO2 बढ़ने से तापमान भी बढ़ता हे ।

1957 में, रेवेल और हंस सूस नामक वैज्ञानिको ने साथ मिलकर एक पेपर में बताया की CO2 जैसे ग्रीनहाउस गैस की वजह से ग्लोबल वार्मिंग की समस्या उत्पन्न होती हे । 1988 में, World Meteorological Organization ने Intergovernmental Panel on Climate Change, या IPCC की स्थापना की, जो पृथ्वी की जलवायु के साथ जो हो रहा है उसे जानने के लिए प्रमुख स्रोत बन गया है ।

IPCC के एक रिपोर्ट के अनुसार पूर्व-औद्योगिक काल से मानव गतिविधियों के कारण (global warming definition in Hindi) ग्लोबल वार्मिंग का तापमान लगभग 1.0 डिग्री सेल्सियस रहा हे । और ऐसा भी कहा गया हे की वर्तमान दर पर, ग्लोबल वार्मिंग 2030 और 2050 के बीच लगभग 1.5 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाएगा । source1

लेकिन आप सोच रहे होंगे की 1 डिग्री सेल्सियस बढ़ने से क्या होता हे ? बेशक ये सुनने में बहुत कम लगता हे लेकिन इसका प्रभाव और ग्लोबल वार्मिंग से होने वाले नुकसान काफी खतरनाक हो सकते हे । आइये समझते हे ।

ग्लोबल वार्मिंग के दुष्प्रभाव क्या है

पृथ्वी के औसत तापमान में 1 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि भी हुई तो कई सारी समस्या खड़ी हो सकती हे ।

Global warming in hindi
Global warming in hindi
  • हमारे वायुमंडल जितनी बड़ी चीज के लिए, एक डिग्री भी ग्लोबल वार्मिंग प्रभावों पर एक खतरनाक चक्र को शुरू करती है । एक गर्म वातावरण अधिक वाष्प (भाप) धारण कर सकता है। यदि जलवायु एक डिग्री सेल्सियस और गर्म हो जाती है, तो वातावरण लगभग 7% अधिक वाष्प धारण करने में सक्षम होगा।
  • जिससे झीलों , महासागर ,पेड़ और जमीनों मेसे होने वाले बाष्पीकरण के दर में वृद्धि होती हे । जिससे पेड़, जमीने और झीले सुख जाती हे । (global warming definition in Hindi)
  • जलबाष्प यानि की भाप भी एक ग्रीनहाउस गैस ही हे । जो बादल में संघनित हो कर वातावरण को गर्म कर देती हे । गर्म वातावरण तब अधिक जल वाष्प धारण कर सकता है, जिससे वार्मिंग क्षमता बढ़ जाती है, जिससे पृथ्वी की सतह पर वाष्पीकरण बढ़ जाता है । ये प्रतिक्रिया एक चक्र की तरह चलती रहती हे जिसे जल वाष्प प्रतिक्रिया कहा जाता है।
  • वैश्विक तापमान में एक डिग्री की वृद्धि के परिणामस्वरूप हीट वेव्स की तीव्रता, आवृत्ति और अवधि में वृद्धि होती है । हीटवेव, अत्यधिक गर्म मौसम की अवधि है, जो विशेष रूप से समुद्री जलवायु वाले देशों में उच्च आर्द्रता के साथ हो सकती है। United States जैसे देशो में हर साल हीट वेव्स की वजह से लोगो की मोत हो जाती हे ।
  • वाष्पीकरण से सूखे की स्थिति और खराब होने की संभावना है । (ग्लोबल वार्मिंग का कृषि पर प्रभाव) आईपीसीसी रिपोर्ट से पता चलता है कि एक कृषि और पारिस्थितिक सूखा जो आम तौर पर 10 वर्षों में एक बार होता है, 1.5 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि के साथ 10 वर्षों में दो गुना होने की संभावना होगी, और अगर पृथ्वी का वातावरण एक और पूर्ण डिग्री तक गर्म हो जाता है तो 2.4 गुना सूखा होने की संभावना हो सकती हे । (global warming definition in Hindi)
  • पृथ्वी के गर्म होने से पर्वत के बर्फ जल्दी पिघलने लगता हे । अगर 1 डिग्री सेल्सियस वार्मिंग बढ़ जाये तो तटीय क्षेत्रों, आर्कटिक और पश्चिमी अमेरिका सहित कुछ क्षेत्रों में 30 दिन पहले स्नोपैक गायब हो सकते है।
  • वाष्पीकरण में वृद्धि और जल्दी बर्फ पिघलने के साथ, पृथ्वी की वनस्पतियाँ रिकॉर्ड गति से सूखती रहेंगी । इससे जंगल की आग और भी अधिक गर्म हो सकती है और और भी तेजी से आगे बढ़ सकती है – 2012 और 2020 जैसे खराब आग के वर्ष 2050 तक 4 गुना अधिक होने का अनुमान है।
  • जैसे पृथ्वी के जलवायु गर्म होता हे अचानक बाढ़ के बदतर और अधिक बार होने का अनुमान है । एक अध्ययन में कहा गया है कि केवल एक और डिग्री वार्मिंग के साथ बारिश 16-24% भारी हो सकती है। source2
  • वायुमंडल में अधिक जलवाष्प के ऊपर जाने से, कम आवृत्ति के साथ बारिश होती हे । तो दुनिया भर में वार्षिक औसत वर्षा नीचे जा सकती है, जबकि व्यक्तिगत बारिश की घटनाएं अधिक चरम हो जाती हैं जिसके परिणामस्वरूप एक तरफ सूखे में वृद्धि होती है और उसी समय दूसरी तरफ में बाढ़ बढ़ जाती है।

तो दोस्तों अपने जाना की ग्लोबल वार्मिंग के दुष्प्रभाव क्या है और ग्लोबल वार्मिंग के सिर्फ 1 डिग्री के बढ़ने से ही वातावरण में कितनी समस्याए खड़ी हो सकती हे । अब आगे जानेंगे ग्लोबल वार्मिंग के लाभ और हानि और ग्लोबल वार्मिंग से बचाव के उपाय के बारे में ।

ग्लोबल वार्मिंग के लाभ और हानि

आप सोच रहे होंगे की ग्लोबल वार्मिंग (global warming definition in Hindi) के लाभ भी हो सकते हे ? देखिये आप जानते हैं की एक सिक्के की दो बाजु होती ही हे । ग्लोबल वार्मिंग के भी फायदे हे लेकिन ग्लोबल वार्मिंग से होने वाले नुकसान के सामने ये कुछ भी नहीं हे । चलिए समझते हे ।

  • ग्लोबल वार्मिंग के लाभ उन जगहों के लिए हे जहाका मौसम काफी ठंडा हे । जैसे अंटार्कटिका , आर्कटिक , केनेडा और साईबेरिआ । ऐसे प्रदेशो में वार्मिंग की वजह से ज्यादा वनस्पति का विकास और हल्की ठंडी मौसम देखने को मिल सकती हे ।
  • ग्लोबल वार्मिंग से हिमयुग या हिमानियों को रोका जा सकता हे । हिमयुग ऐसी परिस्थिति हे जिसमे पृथ्वी की सतह और वायुमंडल का तापमान कई अरसे के लिए कम हो जाता हे ।
  • ग्लोबल वार्मिंग के वजह से लंबे समय तक बढ़ते मौसम का मतलब कुछ क्षेत्रों में कृषि उत्पादन में वृद्धि हो सकता है ।

ग्लोबल वार्मिंग से होने वाले नुकसान

global warming
global warming
  • पृथ्वी का तापमान बढ़ने से बर्फ पिघल ने पर समुंदर की सतह में बढ़ोतरी हो सकती हे और बाढ़ आने की वजह से कई जानमाल के नुकशान हो सकते हे । (global warming definition in Hindi)
  • ग्लोबल वार्मिंग से बाष्पीकरण बढ़ने से जमीन और वनस्पति सुखी पड़ जाएगी और जिससे प्राणी , पक्षी और इंसानो के लिए खाने की चीजों में खपत देख़ने को मिल सकती हे ।
  • ग्लोबल वार्मिंग का मानव जीवन पर प्रभाव देखे तो कई कीटाणु जनित रोग बढ़ सकते हे । ऐसे कीटाणु जो गर्मीं के वातावरण में विकास करते हे ।
  • ज्यादा गरम मौसम में ठंडा करने की जरूरत को पूरा करने के लिए लोग ज्यादा ऊर्जा स्त्रोत का उपयोग करेंगे । जिससे प्रदूषण बढ़ सकता हे और अस्थमा और एलर्जी की समस्याए बढ़ सकती हे ।
  • ग्लोबल वार्मिंग का मानव जीवन पर प्रभाव की वजह से जो लोग ऐसी जगह और देश में रहते हे जहा गर्मी ज्यादा पड़ती हे, ,सूखा पड़ता हे और जहा के लोग गरीब हे । वो लोगो ठन्डी जगहों और देशो में स्थलांतर करना चाहेंगे जिससे लोग कई तरह की दुविधा में पड़ सकते हे ।
  • हमारे आपपास का पर्यावरण भी वार्मिंग से प्रभावित होता हे । पारिस्थितिक पर्यावरण में संतुलन होने से ही प्रकृति के जिव एक दूसरे पर निर्भर होकर जीते हे । ग्लोकल वार्मिंग की वजह से कई सारे प्राणी और पसु की प्रजातिआ विलुप्त हो सकती हे जिससे प्रजातीय समृद्धि कम हो जाती हे ।

जिससे जैवविविधता को खतरा हे । अगर आप जैवविविधता के महत्व और प्रजातीय समृद्धि के बारे में विस्तृत जानकारी पाना चाहते हे तो जैवविविधता के महत्व के ऊपर मेरा blogpost जरूर पढ़े ।

  • और जैसे की आगे हमने जाना की जंगलों के सुखने से जंगल की आग की आवृत्ति, आकार और तीव्रता में कैसे वृद्धि होती है । जिससे जंगलो पर निर्भर रहने वाले कई इंसानो , प्राणिओ , पक्षिओ सभी की जान भी जा सकती हे । जो फिर एक बार हमारे पारिस्थितिक पर्यावरण के संतुलन के लिए सही नहीं हे ।

इसके आलावा ग्लोबल वार्मिग की कई ऐसी ख़राब असर हे जो अनगिनत हे । अब जानते हे की वैश्विक तापमान के निवारण के लिए हम क्या कर सकते हे ।

ग्लोबल वार्मिंग से बचाव के उपाय :

  • जैसे की आपने global warming definition in Hindi में जानने के बाद समझ ही लिया होगा की ग्लोबल वार्मिंग का मुख्य कारण CO2 हे और इसे कम करने के लिए प्रदुषण कम करना चाइये ।
  • petrol और डीज़ल से चलने वाले वाहनों का काम और इलेक्ट्रिक वाहनों को ज्यादा बढ़ावा देना चाहिए । महान बिज़नेसमेन और वैज्ञानिक एलोन मस्क भी इस बात को जानते हे तभी वो भी पुनःप्राप्य उर्जा को बढ़ावा देते हे जिससे पर्यावरण को कोई नुकशान न हो । Also Read : Inspiring Elon musk biography in Hindi
  • ज्यादा से ज्यादा वृक्षारोपण करे और कम से कम पेड़ को काटे जाये । जिससे वायुमंडल में CO2 स्तर बढे नहीं ।
  • फ्रीज और एयर कंडीशन जैसी मशीनों जिससे ग्रीनहाउस गैस का उत्सर्जन होता हे उनका इस्तेमाल कम से कम करने की हमें आदत डालनी चाहिए ।
  • ऐसी ही चीजों का इस्तेमाल करना चाहिए जिसे हम रिसाइकल कर सकते हे ।
  • टेक्नोलॉजिकल डेवलपमेंट से ऐसी चीजों और टेक्नोलॉजी का निर्माण करना चाहिए जिससे कारखानों में कोयले, तेल और गैस को जलाने की कम जरुरत पड़े ।
  • लोगो में ग्लोबल वार्मिंग जैसे गंभीर विषय में जानकारी फैलाई जाय जिससे सरकार के लिए गए फेसलो में सहकार मिले । जैसे भारत की गैर जीवाश्म ऊर्जा की क्षमता को 2030 तक 500 gigawatt तक ले जाना , 2030 तक भारत की ऊर्जा आवश्यकताओं का 50 प्रतिशत पुनः प्राप्य ऊर्जा से पूरा करना वगैरह । और विश्व स्तर पर Paris agreement । जिसमें भारत भी एक हिस्सा हे ।

Conclusion

तो केसा लगा आर्टिकल ? आज हमने global warming definition in Hindi जाना । इसके आलावा आपने क्या है ग्लोबल वार्मिंग? ग्रीन हाउस प्रभाव क्या है? और कैसे काम करता हे ? कैसे ग्लोबल वार्मिंग 1 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि से हमारे पर्यावरण को असर करता हे ये हमने समझा । आगे हमने जाना की ग्लोबल वार्मिंग के लाभ और हानि और अंत में हमने ग्लोबल वार्मिंग से बचाव के उपाय के बारे में चर्चा की ।

आशा करता हूँ आपको global warming definition in Hindi में ग्लोबल वार्मिंग के बारे में पूरी जानकारी बता पाया हूँगा । आप भी अपने ग्लोबल वार्मिंग के विचार कमेंट बॉक्स में जरूर बताए और कोई सुझाव हो तो भी बताए । ऐसी महत्वपूर्ण जानकारी को दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे । इसी तरह पढ़ते रहिये समझदार बनिए । मिलते हे नयी जानकारी के साथ अगले आर्टिकल में । अब तक आप विज्ञानं से जुड़े मेरे और ब्लॉगपोस्ट पढ़े जिसका लिंक में निचे दे दूंगा । धन्यवाद् !

Also Read : इसरो के 11 महान वैज्ञानिक 2022 , जानिए मेटावर्स के बारे में , कैलोरी से जुडी सभी जानकारी, टाइगर के सभी फैक्ट्स , जानिए Mind-body Connection , सौरमंडल के रोचक तथ्य , Female Reproductive System In Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.