brain
Dimag kya hai
Dimag kya hai

हेल्लो दोस्तों , स्वागत हे आपका Sciencegyani में । क्या आपके दिमाग में भी ये सवाल उठता हे की Dimag kya hai , कैसे काम करता हे और क्यों । तो आप बिलकुल सही जगह पर आये हे ।

क्यूंकि ये विज्ञानं पे आधारित एजुकेशन ब्लॉग हे जिसमे में दिमाग की साधारण बातो को छोड़कर हम दिमाग की रचना और उसके कार्य के पीछे का विज्ञानं केसा हे उसके बारे में बात करेंगे ।

आज के इस ब्लॉगपोस्ट के अंत में आपको पता चल जायेगा की Dimag kya hai , उसकी रचना किसी हे । उसके पीछे का विज्ञानं क्या हे । कैसे हमारे जीवन के हर एक पेहलु में ये महत्वपूर्ण भूमिका निभाता हे ।

दिमाग क्या हे ? What is brain ?

ज्यादातर लोग ये नहीं जानते पर हमारी तंत्रिका प्रणाली (nervous system) हमारे शरीर का कमांड सेंटर है । हमारी तंत्रिका प्रणाली दो तंत्र में विभाजित हे । एक केंद्रीय तंत्रिका तंत्र जो दिमाग और रीढ़ की हड्डी से बना हुआ हे । यानि की हमारा Dimag kya hai ? ये सेंट्रल नर्वस सिस्टम का मस्तिष्क एक भाग है

Central nervous system
Central nervous system

दूसरा हे परिधीय तंत्रिका तंत्र(peripheral nervous system) जो नसों से बना होता है जो रीढ़ की हड्डी से शरीर के सभी हिस्सों तक फैली हुई है।

पूरी (nervous system) तंत्रिका तंत्र मिलकर आपके आस-पास की दुनिया के प्रति आपकी गतिविधियों, विचारों और स्वचालित प्रतिक्रियाओं जैसे कि पाचन, श्वास और यौन विकास (यौवन) को नियंत्रित करता है ।

यह शरीर की अन्य प्रणालियों को भी नियंत्रित करता है । जिसमे हम आज Dimag kya hai, कैसे बना हुआ हे और दिमाग कैसे काम करता है इसके बारे में जानेंगे । और मेरी आपसे गुजारिश हे की पढ़ने के साथ साथ इमेज पर भी नजर डाले जिससे आपको समझने में आसानी रहेगी । ठीक हे ?

(मानव मस्तिष्क के कार्य) Dimag kya hai ? मस्तिष्क के क्या कार्य है ? दिमाग शरीर का एक ऐसा महत्व पूर्ण अंग हे जो सभी संवेदी जानकारी जैसे सूंघना, छूना, चखना, देखना, सुनना वगेरे की जानकारी को छांटता है और आदेश देता है । यह आपके सबसे जटिल कार्यों को भी करता है, जैसे सोचना, ,महसूस करना और याद रखना ।

आप जरूर जानते होंगे की शरीर का सबसे महत्व का और नाजुक अंग दिमाग हे । लेकिन इससे भी ज्यादा ये सबसे जटिल भी हे ।

(मानव मस्तिष्क कितने ग्राम का होता है?) मानव मस्तिष्क 1500 ग्राम का होता हे ।

(मानव का दिमाग कैसे काम करता है?) मानव का दिमाग शरीर की 20 फीसदी शक्ति को इस्तेमाल करता हे । ये दिमाग 86 अरब न्यूरॉन से भरा हुआ हे । न्यूरॉन हमारे दिमाग के सेल्स हे जो दिमाग के एक हिस्से से दूसरे हिस्से में माहिती पहुंचाने का काम करते हे ।

Dimag kya hai ये जानने के बाद अब दिमाग के ढांचे और उसकी रचना के बारे में जानते हे ।

मस्तिष्क की संरचना एवं कार्य : Dimag kya hai

मस्तिष्क के काम करने के तरीके के बारे में हम जो कुछ भी जानते हैं, वह दिमाग पे लगने वाली चोटों के अध्ययन के माध्यम से पता चला है। आपकी रीढ़ की हड्डी और मस्तिष्क(Dimag kya hai) दोनों नाजुक, जेली जैसे तंत्रिका ऊतक से बने होते हैं जो चोट के लिए अतिसंवेदनशील होते हैं।

तो ह्यूमन ब्रेन इन हिंदी में पहले हमारा मस्तिष्क, हड्डियों (खोपड़ी)के साथ ही झिल्ली परतों, या मेनिन्जेस द्वारा अच्छी तरह से सुरक्षित है, उसके बाद ये स्पष्ट मस्तिष्कमेरु द्रव(cerebrospinal fluid) के एक गद्दीदार पानी में स्थित हे । (Dimag kya hai)

Brain nearby Structures
Brain nearby Structures

यह द्रव वास्तव में आपके मस्तिष्क को आपकी खोपड़ी में कुछ हद तक तैरने देता है, इसके वजन को कम करता है । जिससे आप और आपका सिर चलने के लिए स्वतंत्र होते हैं और ये चारों ओर घूमने देता है।

मस्तिष्क (Dimag kya hai) अति-विशिष्ट क्षेत्रों से बना होता है जिनमें अति-विशिष्ट कार्य होते हैं ।

(इंसान के दिमाग में क्या क्या होता है?) इंसान के दिमाग में प्रमस्तिष्क(cerebrum), Frontal lobe, Parietal lobe, Occipital lobe , Temporal lobe, (Hippocampus)हिप्पोकैम्पस, अमिगडाला(Amygdala), pituitary gland, सेरिबैलम(Cerebellum), ब्रेनस्टेम(Brainstem), और सेरेब्रल कॉर्टेक्स(Cerebral cortex) जैसे अलग अलग क्षेत्रों के अलग अलग कार्य होते हे ।

Dimag kya hai ये जानने के लिए शुरुआत करते हे सेरीब्रम क्या है या प्रमस्तिष्‍क क्या है ये जानने से । प्रमस्तिष्‍क या सेरीब्रम अखरोट की तरह दिखने वाला दिमाग का सबसे बड़ा भाग हे । जो दिमाग के उच्चतम कार्य करता है । यह “ग्रे मैटर” की झुर्रीदार, बाहरी परत से बना होता है जिसे सेरेब्रल कॉर्टेक्स कहा जाता है, और इसके नीचे “white matter ” की आंतरिक परत होती है।

gray and white matter
gray and white matter

प्रमस्तिष्क क्या है ? प्रमस्तिष्क हमारे स्वैच्छिक हलन -चलन और हमारी सबसे उन्नत कार्यो को नियंत्रित करता है, जैसे सोचना , और सीखना, और भावनाओं को विनियमित और पहचानना, और सामान्य रूप से चेतना का अनुभव करना।

सेरेब्रम में बड़ा दरार बाएँ और दाएँ hemispheres को अलग करता है । माइलिनेटेड अक्षतंतु तंतुओं की एक श्रृंखला, जिसे कॉर्पस कॉलोसम कहा जाता है उसी के माध्यम से बाएँ और दाएँ hemisphere में संचार होता है, और प्रत्येक गोलार्द्ध यानी की hemispheres में अन्य, छोटी दरारें होती हैं जो इसे लोब में विभाजित करती हैं – प्रत्येक लोब के अलग अलग प्रमुख कार्य हे ।

parts of cerebrum
parts of cerebrum

Frontal lobe : Frontal lobe मांसपेशियों के नियंत्रण और भविष्य के लिए योजना बनाने, ध्यान केंद्रित करने और सामाजिक रूप से अस्वीकार्य व्यवहारों को रोकने जैसे संज्ञानात्मक कार्यों को नियंत्रित करता है । अधिकांश लोगों में, यह क्षेत्र किशोरावस्था के बाद तक विकसित नहीं होता है ।

Parietal lobe : Parietal lobe जो स्पर्श, दर्द और दबाव की संवेदनाओं को संसाधित करता है।

Occipital lobe : Occipital lobe आपके सिर के पीछे स्थित हे । जो उन उज्ज्वल दृश्य संकेतों को संसाधित करने के लिए उपयोगी हे ।

Temporal lobe: Temporal lobe भाषा सहित श्रवण संबंधी जानकारी को छाँटने में मदद करता है । इसमें वर्निक का क्षेत्र शामिल है, जो लिखित और बोली जाने वाली भाषा के उत्पादन से जुड़ा मस्तिष्क का एक और महत्वपूर्ण क्षेत्र है।

brain parts

लिम्बिक सिस्टम के इस हिस्से में आपका (Hippocampus)हिप्पोकैम्पस अल्पकालिक मेमोरी कीपर है और भावनात्मक अमिगडाला(Amygdala) , जो यौन और सामाजिक व्यवहार को नियंत्रित करता है। इसलिए, यदि आप अपने टेम्पोरल लोब के गलत हिस्से को नुकसान पहुंचाते हैं, तो आप फिर कभी याद नहीं रख पाएंगे कि दोपहर के भोजन में आपने क्या खाया था ?

अमिगडाला(Amygdala) के ऊपर pituitary gland हे जो हॉर्मोन्स के स्राव को नियंत्रित करता हे । पुरुष और महिला के प्रजनन तंत्र में शुक्राणु और अंडाणु के उत्पादन pituitary gland के द्वारा नियंत्रित होते हे ।

अगर आप मेल रिप्रोडक्शन सिस्टम और फीमेल रिप्रोडक्टिव सिस्टम के बारे में जानना चाहते हे तो मेरे इन दोनों टॉपिक पर ब्लॉगपोस्ट जरूर पढ़े ।

सेरिबैलम, जो ज्यादातर पेशीय गतिविधि और मस्तिष्क तंत्र के समन्वय में मदद करता है, जो शरीर और मस्तिष्क के उच्च क्षेत्रों के बीच सूचनाओं को प्रसारित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

Cerebellum : सेरिबैलम, जो ज्यादातर पेशीय गतिविधि और मस्तिष्क तंत्र के समन्वय में मदद करता है, जो शरीर और मस्तिष्क के उच्च क्षेत्रों के बीच सूचनाओं को प्रसारित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

parts of brain
parts of brain

Brainstem : ब्रेनस्टेम में वास्तव में तीन मुख्य घटक होते हैं, आपके पास मिडब्रेन(midbrain), पोन्स(pons) और मेडुला ऑबोंगटा(medulla oblongata) होता है। साथ में वे कई सबसे बुनियादी, महत्वपूर्ण अनैच्छिक कार्यों को नियंत्रित करते हैं, जैसे आपके दिल को गति में रखना, आपके फेफड़ों को काम करना, और नींद, भूख, दर्द संवेदनशीलता और जागरूकता जैसी चीजों को नियंत्रित करना ।

(image : parts of brain को देखे (Dimag kya hai))

लेकिन ब्रेनस्टेम के तीन हिस्सों में से, यह आपका मिडब्रेन है जो उच्च-स्तरीय कार्यों को करता है। जैसे, जब आपकी आंखें किसी तेज गति वाली वस्तु को देख लेती हैं, या जब आप अचानक तेज आवाज सुनने के बाद अपने पीछे देखते हैं, तो यह मध्य मस्तिष्क है जो उस संवेदी जानकारी को प्राप्त करता है और संसाधित करता है और मोटर सिग्नल भेजता है, इसलिए आप बिना सोचे समझे प्रतिक्रिया करते हैं ।

Cerebral cortex : मिडब्रेन उस डेटा को सेरेब्रल कॉर्टेक्स जैसे क्षेत्रों में भी भेजता है, जो उत्तेजनाओं के बारे में वास्तविक सचेत सोच करता है, जैसे “वह क्या चीज है जो पूरे आकाश में घूम रही है?” या “मेरे पीछे कोन कबसे आवाज कर रहा हे ?”

diencephalon and brainstem
Diencephalon and brainstem

Diencephalon : अगले प्रमुख मस्तिष्क संरचना, डाइएनसेफेलॉन में कुछ अधिक जटिल कार्य किए जाते हैं । यह वह जगह है जहाँ आप थैलेमस(thalamus), हाइपोथैलेमस(hypothalamus), एपिथेलेमस(epithalamus) और mammillary bodies पाते हैं, जो समस्थिति, सतर्कता और प्रजनन गतिविधि जैसी चीजों को नियंत्रित करते हैं । (image : Diencephalon and brainstem को देखे (Dimag kya hai) )

भ्रूण से वयस्क तक दिमाग का विकास :

Dimag kya hai और कैसे काम करता हे ये जानने के बाद अब जानते हे भ्रूण से वयस्क तक दिमाग का विकास कैसे होता हे । चलिए देखते हे ।

एक विकासशील भ्रूण के अंदर, केंद्रीय तंत्रिका तंत्र एक विनम्र छोटी न्यूरल ट्यूब के रूप में शुरू होता है। जल्द ही ट्यूब का दुम, या निचला हिस्सा, रीढ़ की हड्डी का निर्माण करते हुए फैला जाता है, जबकि कपाल का अंत तीन प्राथमिक मस्तिष्क पुटिकाओं या परस्पर जुड़े कक्षों में विस्तार, विभाजित और विस्तार करना शुरू कर देता है।

embryo brain
embryo brain

( मस्तिष्क के कितने भाग होते हैं ) इन कक्षों को प्रोसेन्सेफेलॉन(prosencephalon), मेसेनसेफेलॉन(mesencephalon), रॉम्बेंसफेलॉन(rhombencephalon) या फोरब्रेन(forebrain), मिडब्रेन(midbrain) और हिंदब्रेन(hindbrain) कहते हैं ।

(image : embryo brain को देखे (Dimag kya hai )

भ्रूण के विकास के पांचवें सप्ताह तक, ये मुख्य तीन कक्ष पांच माध्यमिक पुटिकाओं में रूपांतरित होने लगते हैं जो अनिवार्य रूप से आपके विकसित मस्तिष्क संरचनाओं की जड़ों का निर्माण करते हैं।

प्रोसेन्सेफेलॉन(prosencephalon) दो खंडों में विभाजित होता है – टेलेंसफेलॉन(telencephalon) और डाइएनसेफेलॉन(diencephalon) । रॉम्बेंसफेलॉन एक अन्य जोड़ी में बनता है, जिसे मेटेनसेफेलॉन(metencephalon) और मायलेंसफेलॉन(myelencephalon) कहा जाता है। और बीच में, विकास के लिए , मेसेनसेफेलॉन(mesencephalon) अविभाजित रहता है । ( निचे image : Child brain को देखे (Dimag kya hai )

Child brain
Child brain

वास्तविक क्रिया तब शुरू होती है जब ये पांच माध्यमिक पुटिकाएं प्रमुख वयस्क मस्तिष्क क्षेत्रों में विकसित होने लगती हैं, जिनसे आप अधिक परिचित हे जो ब्रेनस्टेम, सेरिबैलम, डाइएनसेफेलॉन हैं, जिसे इंटरब्रेन के रूप में भी जाना जाता है, और अंत में cerebral hemispheres जिनके बारे में हमने सबसे पहले जाना ।

( ऊपर image : Child brain को देखे (Dimag kya hai )

तीन सबसे दुम या निचले वर्गों में कम से कम परिवर्तन होते हैं: मेसेनसेफेलॉन, मेटेनसेफेलॉन, और मायलेंसफेलॉन। वे सेरिबैलम(cerebellum) बन जाते हैं । ( Child brain image को देखे (Dimag kya hai )

लगातार पूछे जाने वाले प्रश्न : Dimag kya hai

दिमाग में कितनी शक्ति होती है? मस्तिष्क की क्षमता कितनी होती है

हमारे दिमाग की शक्ति सुपर कंप्यूटर से भी ज्यादा हे । एक रीसर्च के अनुसार इंसानी दिमाग कंप्यूटर का 10 लाख gb से भी ज्यादा इनफार्मेशन को स्टोर करने में सक्षम हे । और कंप्यूटर की तुलना में 10 गुना काम ऊर्जा पे ये काम करता हे ।

दिमाग का 100 उपयोग कैसे करे?

शारीरिक व्यायाम से , अच्छी नींद , अच्छे पौष्टिक आहार के सेवन से दिमाग की क्षमता बढती हे । इसके आलावा आप नयी नयी skill और जटिल कार्य जैसे गणित की समस्याओं को हल करना , piano सीखना , जग्गलिंग और दिमाग कसने वाली गेम्स खेलने से भी दिमाग की क्षमता का विकास होता हे ।

मनुष्य का दिमाग कितना सोच सकता है?

विज्ञानिको के मुताबिक मनुष्य के दिमाग(Dimag kya hai) में एक दिन में 60 से 80 हजार विचार आते हे । जो एक घंटे के 2500 से भी ज्यादा होते हे ।

दिमाग कमजोर कैसे होता है ?

एक अध्ययन के मुताबिक सीखने, याददाश्त और मानसिक स्वास्थ्य से जुड़े मस्तिष्क(Dimag kya hai) के हिस्से उन लोगों में छोटे होते हैं जिनके आहार में बहुत सारे जंक फ़ूड , फ्राइज़, आलू के चिप्स और शीतल पेय होते हे । इसलिए दिमाग के स्वास्थ्य के लिए ज्यादा हरी सब्जी खानी चाहिए ।

दिमाग की कमजोरी के लक्षण क्या हे ?

दिमाग की कमजोरी या चोट लगने से हमारे शरीर की कई क्रिया करने में दिक्कत होती हे । जैसे दिमाग में स्ट्रोक के कारण कई लोग बात नहीं कर पाते हे , इसके आलावा दृष्टि हानि, सर में दर्द और सोच ने में भी तकलीफ होती हे ।

Conclusion

आज के दिमाग के सम्बन्धी एडुकेशनल ब्लॉगपोस्ट में अपने Dimag kya hai ?, कैसे काम करता हे । दिमाग की संरचना केसी हे और दिमाग के अलग क्षेत्रों के कार्य क्या क्या हे उसके बारे में जाना । इसके आलावा आपने इंसान में भ्रूण से वयस्क तक दिमाग का विकास कैसे होता हे ये भी जाना ।

तो इसके साथ आज का ब्लॉगपोस्ट(Dimag kya hai) यही पे ख़त्म होता हे । अगर आप दिमाग और शरीर के संबंध बारे में जानना चाहते हे तो Mind body connection ब्लॉगपोस्ट जरूर पढ़े । और आप मस्तिष्क संबंधी बीमारियां के बारे में जानकारी पाना चाहते हो तो ये आर्टिकल पढ़े ।

ALso read : सपनो के बारे में अद्भुत रहस्य , The Secret Of MIND BODY CONNECTION , Facts Psychology in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.